Skip links

1921 में अस्तित्व में आये लोक लेखा समिति(PAC) के 100 वर्ष पूरे होने पर संसद के केंद्रीय कक्ष में आयोजित समारोह में भाग लेने हेतु दिल्ली प्रवास पर हूँ । इसमें शामिल होना मेरे लिए एक विशेष व गौरवशाली अवसर होगा । PAC को लोक निधि का प्रहरी माना जाता है ।

Leave a comment